युवाओं के लिए जिम्मेदार एआई 2022- स्कूली छात्रों के लिए एक राष्ट्रीय कार्यक्रम

संक्षिप्त विवरण

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) तेजी से हम सभी के जीवन का हिस्सा बनता जा रहा है। फिर भी एआई को एक तकनीक के रूप में जानने व समझने वालों की संख्या सीमित है। स्किल से जुड़े इस बढ़ते अंतर को दूर करने, अगली पीढ़ी को डिजिटल की जरुरतों के मुताबिक तैयार करने और 2020 में शुरू किए समावेशी व सहयोगी एआई स्किलिंग कार्यक्रम की प्रगति को बरकारार रखने के उद्देश्य से भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिविजन ने 'युवा के लिए जिम्मेदार एआई 2022 ' कार्यक्रम नामक एक इनोवेशन चैलेंज की शुरुआत की है, जिसका हर युवा को बेसब्री से इंतजार था।

आज के छात्र कल के चेंजमेकर होंगे। भविष्य की जरुरतों के लिए तैयार करने के लिए हमें उन्हें उपकरणों, संसाधनों और नए स्किल सीखने के अवसर प्रदान कर सशक्त बनाने की आवश्यकता है। डिजिटल युग में एक कुशल व सक्षम कार्यबल किसी भी देश और उद्योग के विकास की नींव है। एआई-आधारित अर्थव्यवस्था में हमारे युवाओं की क्षमता निर्माण के लिए एक नए और समावेशी दृष्टिकोण की आवश्यकता है।

'युवा के लिए जिम्मेदार एआई 2022' कार्यक्रम का उद्देश्य एआई की गहरी समझ को बढ़ावा देना, देश भर में कक्षा 8 से 12 वीं के स्कूली छात्रों को एआई कौशल से लैस करना और उन्हें मानव-केंद्रित डिजाइनर और एआई का यूजर बनने में सशक्त बनाना है। कार्यक्रम छात्रों को व्यवहारिक तरीके से एआई सीखने का अवसर प्रदान करता है ताकि वे यह समझ और जान पाएं कि कैसे एआई तकनीक का उपयोग महत्वपूर्ण समस्याओं से निपटने और राष्ट्र के समावेशी विकास के लिए किया जा सकता है।

कार्यक्रम के तहत देश भर के 20 छात्रों को माननीय केंद्रीय मंत्री, श्री अश्विनी वैष्णव और माननीय राज्य मंत्री, श्री राजीव चंद्रशेखर के साथ संवाद और दिल्ली आकर उन्हें अपना काम दिखाने का अवसर प्रदान किया जाएगा। कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, चुनिंदा छात्रों को डिजिटल इंडिया वीक 2022 में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत करने और अहमदाबाद में उन्हें अपना समाधान दिखाने का अवसर प्रदान किया गया था।

यदि आप कक्षा 8वीं से 12 वीं तक के स्कूली छात्र हैं और एआई तकनीक की अपनी समझ को व्यापक बनाने के लिए उत्साहित हैं तथा देश भर के प्रतिभाशाली लोगों के साथ सीखने का मौका पाना चाहते हैं, तो 'युवा के लिए जिम्मेदार एआई 2022' कार्यक्रम के लिए पंजीकरण करें।

कार्यक्रम के मुख्य उद्देश्य:

  1. एआई-टेक और सामाजिक कौशल की गहरी समझ को बढ़ावा देना
  2. सांकेतिक उपलब्धि के तौर पर युवाओं को एआई-सक्षम समाधान विकसित करने में सक्षम बनाना
  3. युवाओं को मानव केंद्रित डिजाइनर्स और एआई का यूजर बनने में सशक्त बनाना

पूर्व-अपेक्षाएं

एआई आइडियेशन और विकास का मार्ग कठिन व जटिल हो सकता है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि इसके लिए कोई पूर्वापेक्षाएँ नहीं हैं!

'युवाओं के लिए जिम्मेदार एआई' कार्यक्रम, आपको अपने मेंटर्स के माध्यम से प्रक्रिया में आगे चरण-दर-चरण ले जाता है, ताकि आप बिना किसी पूर्व ज्ञान या अनुभव के एआई के बारे में जान सकें।

एआई सीखने के लिए आपको बस कुछ नया सीखने के लिए इच्छुक होना आवश्यक है।

कार्यक्रम का विवरण

कार्यक्रम तीन चरणों में आयोजित किया जाएगा:

चरण 1

  1. कार्यक्रम के लिए शिक्षकों को स्व-नामांकन के माध्यम से ऑन-बोर्ड किया जाएगा
  2. प्रत्येक राज्य/केंद्र शासित प्रदेश से शिक्षकों को निम्न अनुसार मनोनीत किया जाएगा:
    • 10+ शिक्षक 20 से कम जिलों वाले राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से मनोनीत किए जाएंगें।
    • 15+ शिक्षक 20-40 जिले वाले राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों से मनोनीत किए जाएंगें।
    • 20+ शिक्षक 40 से अधिक जिलों वाले राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से मनोनीत किए जाएंगें।
  3. शिक्षक कार्यक्रम और उनकी भूमिकाओं का विवरण प्रदान करने के लिए जिम्मेदार होंगे, इस संबंध में शिक्षकों को पहले ही जानकारी प्रदान की जाएगी। सत्र का विवरण अग्रिम रूप से साझा किया जाएगा।
  4. प्रत्येक नामांकित शिक्षक अपने संबंधित स्कूलों के छात्रों की पहचान करेगा और आयोजन टीम के साथ उनका विवरण साझा करेगा। इसके अतिरिक्त, छात्र ‘अभी भाग लें’ पर क्लिक करके स्व-पंजीकरण कर सकते हैं।
  5. कोर एआई अवधारणाओं से जुड़ी जानकारी हेतु पंजीकृत छात्रों के लिए विशेषज्ञों के साथ ऑनलाइन ओरियंटेशन सत्र आयोजित किए जाएंगे ताकि छात्रों को आइडियेशन की प्रक्रिया आसानी से समझ में आ जाए।
  6. ऑनलाइन ओरियंटेशन के पूरा होने के बाद प्रोग्राम वेब पोर्टल के माध्यम से छात्र 'भागीदारी का प्रमाण पत्र' डाउनलोड कर सकेंगे।
  7. . छात्रों को आठ मुख्य विषयों में से किसी एक के लिए 120 सेकंड के वीडियो के माध्यम से प्रस्तावित एआई आधारित समाधान का विवरण (व्यक्तिगत रूप से या 2 की टीमों में) प्रस्तुत करने के लिए कहा जाएगा।
    • कृषि - कृषि में एआई
    • आरोग्य - हेल्थकेयर में एआई
    • शिक्षा - शिक्षा में एआई
    • पर्यावरण - पर्यावरण और स्वच्छ ऊर्जा में एआई
    • परिवहन - परिवहन में एआई
    • ग्रामीण विकास - ग्रामीण विकास के लिए एआई
    • स्मार्ट सिटी के लिए एआई
    • विधि और न्याय - कानून और न्याय में एआई
  8. छात्र अपना आइडिया सबमिट करने के बाद, वेब पोर्टल के माध्यम से अपना 'सर्टिफिकेट ऑफ एप्रिसिएशन' डाउनलोड कर सकेंगे।
  9. अगले चरण के लिए विशेषज्ञों की एक स्वतंत्र समिति द्वारा प्रस्तावित समाधानों में से शीर्ष एआई-आधारित समाधानों का मूल्यांकन किया जाएगा।

चरण 2

  1. शॉर्टलिस्ट किए गए छात्र ऑनलाइन डीप डाइव एआई प्रशिक्षण में भाग लेंगे
  2. एआई फॉर यूथ कोच से समुचित परामर्श और मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए 3 दिवसीय फेस-टू-फेस बूट शिविर का आयोजन किया जाएगा।
  3. मेंटरशिप कैंप के बाद, छात्र नए ज्ञान का उपयोग आठ प्रमुख विषयों में से किसी एक पर एआई-सक्षम इनोवेशन/प्रोजेक्ट को विकसित करने और अपनी फाइनल प्रविष्टि सबमिट करने के लिए करेंगे।
  4. एक विशेषज्ञ जूरी द्वारा मूल्यांकन के बाद टॉप प्रोजेक्ट को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा।

चरण 3

  1. छात्रों को आईपीआर पर अप्रेंटिसशिप व मार्गदर्शन का अवसर प्रदान किया जाएगा।
  2. सबसे इनोवेटिव एआई-आधारित समाधानों की घोषणा की जाएगी और उन्हें एक राष्ट्रीय प्रदर्शन और सम्मान समारोह में आमंत्रित किया जाएगा
  3. छात्रों को निम्नलिखित श्रेणियों में विशेष पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा:
    • मोस्ट इंक्लूजिव प्रोजेक्ट अवार्ड
    • मोस्ट फ्यूचरिस्टिक प्रोजेक्ट अवार्ड
    • मोस्ट सस्टेनेबल प्रोजेक्ट अवार्ड

शिक्षक के चयन का मानदंड

  1. यदि आप एक शिक्षक हैं, तो आप यहाँ क्लिक करके कार्यक्रम के लिए स्वयं को नामांकित कर सकते हैं
  2. इस कार्यक्रम के लिए आप आवेदन कर सकते हैं / चुने जा सकते हैं, यदि आप:
    • किसी स्कूल में शिक्षक हैं
    • कक्षा 8 और इससे उच्चतर कक्षा के छात्रों को पढ़ाने का अनुभव हो।
    • एक शिक्षण संसाधन के रूप में टेक-सेवी तथा इंटरनेट का उपयोग करने में कुशल हों।
    • नई तकनीक सीखने के लिए उत्सुक और छात्रों को सीखाने को इच्छुक हों।
    • स्कूल में सह-पाठ्यचर्या या पाठ्येतर गतिविधियों से जुड़े हों।
    • संवादात्मक शिक्षण के लिए मास मीडिया टूल्स का उपयोग करते हों।
    • मेंटरशिप और नेतृत्व क्षमता हो।

प्रोजेक्ट टाइमलाइन

*छात्रों के शैक्षणिक कैलेंडर के आधार पर समय-सीमा में बदलाव किया सकता है और यह ओवरलैप भी हो सकता है।
चरण गतिविधि प्रस्तावित समय सीमा*
  कार्यक्रम का शुभारंभ सितंबर 2022
चरण 1 शिक्षको का ओरियंटेशन जल्द घोषित किया जाएगा
छात्रो का ऑनलाइन ओरियंटेशन जल्द घोषित किया जाएगा
पंजीकरण 30 नवंबर
आईडिया सबमिशन जल्द घोषित किया जाएगा
चरण 2 परिणाम की घोषणा जल्द घोषित किया जाएगा
चयनित प्रविष्टियों के लिए क्षेत्रवार बूट कैंप जल्द घोषित किया जाएगा
प्रोजेक्ट मेंटरशिप, शिक्षुता और विशेषज्ञ सत्र जल्द घोषित किया जाएगा
चरण 3 राष्ट्रीय सम्मान समारोह जल्द घोषित किया जाएगा

पुरस्कार

छात्र

  1. ओरियंटेशन सत्र में भाग लेने वाले सभी छात्रों को 'भागीदारी का प्रमाण पत्र' प्रदान किया जाएगा।
  2. सफलता पूर्वक आइडिया सबमिट करने पर, छात्रों को प्रशंसा प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।
  3. चरण 2 के लिए चुने गए छात्रों को डीप डाइव एआई प्रशिक्षण पूरा होने पर एक प्रशिक्षण भागीदारी प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा।
  4. चयनित छात्रों को वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों और उद्योग के प्रतिनिधियों के समक्ष विभिन्न स्तरों पर अपना इनोवेशन प्रदर्शित करने का अवसर मिलेगा।  

स्कूल:

  1. पंजीकरण में सक्रिय रूप से योगदान देने वाले, इंफ्रास्ट्रक्चर, डिजिटल हार्डवेयर आदि सुविधा प्रदान करने वाले स्कूलों की पहचान कर उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा।

सहायता के लिए संपर्क करें

किसी भी प्रश्न के लिए, आप हमें ncsupport@digitalindia.gov.in पर लिख सकते हैं या हेल्पलाइन नंबर +91-9964600800 (सुबह 9 से रात 8 बजे; सोमवार से शुक्रवार) पर कॉल कर सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. क्या छात्रों को इस कार्यक्रम का हिस्सा बनने के लिए कोई फी/शुल्क देना होगा?

    नहीं, कार्यक्रम में पंजीकरण करने के लिए शिक्षकों और/या छात्रों को कोई फी/शुल्क नहीं देना होगा।

  2. 'युवा के लिए जिम्मेदार एआई 2022 ' क्या है?

    भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिविजन ने अपने पार्टनर्स के साथ मिलकर 'युवा के लिए जिम्मेदार एआई 2022’ नामक एक राष्ट्रीय प्रोग्राम की शुरुआत की है, जिसके तहत कक्षा 8वीं से 12वीं तक के स्कूली छात्रों को समावेशी तरीके से एआई तकनीक और सामाजिक कौशल सीखाया जाएगा। यह कार्यक्रम युवाओं को एआई कौशल सीखने के लिए एक प्लेटफॉर्म प्रदान करेगा और उन्हें सार्थक सामाजिक समाधान विकसित करने के लिए सशक्त बनाएगा।

  3. इस राष्ट्रीय कार्यक्रम में कौन भाग ले सकता है?

    भारत के किसी भी राज्य / केंद्र शासित प्रदेश के कक्षा 8वी से 12 वीं तक के छात्र इसमें भाग लेने के पात्र हैं।

  4. क्या छात्र टीम के रूप में आइडिया प्रस्तुत कर सकते हैं?

    युवाओं के लिए जिम्मेदार एआई कार्यक्रम का उद्देश्य सीखने, समस्या की पहचान करने और समाधान की दिशा में एक सहयोगी दृष्टिकोण को बढ़ावा देना है। इसलिए, आप इस कार्यक्रम के लिए व्यक्तिगत रूप से या 2 की टीमों में भाग ले सकते हैं।

  5. ऑनलाइन ओरियंटेशन सेशन में कैसे शामिल हो सकते है?

    ऑनलाइन ओरियंटेशन को प्रत्येक 2 घंटे के 2 सत्रों में विभाजित किया गया है। पंजीकरण के बाद आपको ऑनलाइन ओरियंटेशन सत्र का टाइटल, दिनांक, समय आदि विवरण लिंक के साथ संबंधित मेल आईडी पर प्राप्त होगा। आप http://innovateindia.myov.in/yuvai/ पर स्टूडेंट डैशबोर्ड में लॉग इन करके भी विवरण प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आप सीधे अपने शिक्षक/विद्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं।

  6. क्या इस कार्यक्रम में शामिल होने से पहले की कोई पूर्व अपेक्षाएँ हैं?

    कुछ नया सीखने की रुचि के साथ-साथ अच्छी इंटरनेट कनेक्टिविटी के साथ स्मार्टफोन या कंप्यूटर होना चाहिए।

  7. छात्रों को इस कार्यक्रम में क्यों भाग लेना चाहिए?
    • आने वाले समय में उद्योगों में व्यापक बदलाव लाने वाले नए व उत्तम तरीकों तथा नई व उभरती प्रौद्योगिकियों के बारे जानने हेतु।
    • एआई संबंधित सर्वोत्तम शिक्षण विकल्पों की पहचान करने एवं विशेषज्ञों द्वारा AI पर तैयार वैश्विक पाठ्यक्रम को जानने हेतु।
    • एआई प्रोजेक्ट पर मार्गदर्शन से सामाजिक और सोच की क्षमताओं के विकास के साथ-साथ व्यावहारिक अनुभव बढ़ाने हेतु।
    • MeitY GENESIS (जेन-नेक्स्ट सपोर्ट फॉर इनोवेटिव स्टार्टअप्स) तक पहुंचने के लिए - एक राष्ट्रीय डीप-टेक स्टार्टअप प्रोग्राम, जो आपके इनोवेटिव विचारों को बढ़ावा देता है।
    • सीखने की क्षमता बढ़ाने एवं अभिनव समाधान तैयार करने के लिए शिक्षुता और आईपीआर अवसरों तक पहुंच पाने हेतु।
    • अनुभवी एआई कोच से सीखने, एक्सपोजर के दौरान अपना नेटवर्क बनाने और पूरे देश के अपने आयु वर्ग के छात्रों के साथ सहयोग व शेयर करने का एक मंच पाने हेतु।
    • प्रमाण पत्र व विभिन्न स्तरों पर शो केस में भाग लेने का अवसर पाने और एआई के इस्तेमाल से अपने अभिनव समाधानों को उच्चतम स्तर का सम्मान दिलाने हेतु।
      अधिक जानकारी के लिए विजिट करें - https://innovateindia.mygov.in/yuvai/
  8. मैं कैसे पंजीकरण कर सकता हूं?
    1. सबसे पहले 'अभी भाग लें' (छात्रों के लिए)  बटन पर क्लिक करें।
    2. लॉग इन करें।
    3. रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरे और अभी सबमिट करें पर क्लिक करें। 
    4. याद रखें, प्रतियोगिता कक्षा 8वीं से 12वीं तक के स्कूली छात्रों के लिए खुली है।
    5. छात्र निर्धारित विषयों में से किसी एक पर अपने जवाब भेज सकते हैं।
  9. मैं शिक्षक के लॉगिन के माध्यम से कैसे भाग ले सकता हूं:
    1. जिन छात्रों के पास इंटरनेट या ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर नहीं है, RAIY 2022 में भाग लेने के लिए वे अपने शिक्षक के जरिए 'भाग लें’ (शिक्षकों के लिए) विकल्प का चयन करके लॉगिन कर सकते हैं।
    2. एक शिक्षक, छात्रों का सही विवरण और उनकी प्रविष्टियों को सबमिट करके एक या एक से अधिक छात्रों (एक समय में एक) को लॉगिन करा सकते हैं।
    3. सबमिट टैब पर क्लिक करने पर, शिक्षक उनके द्वारा जमा किए गए सभी सबमिशन की स्थिति देख सकेंगे।
  10. विषयगत क्षेत्र क्या हैं?

    छात्रों को 8 पूर्व निर्धारित विषयों से संबंधित अपने आइडिया देने होंगे।

    1. कृषि - कृषि क्षेत्र में एआई
      • कृषि उत्पादन को प्रबंधित करने और कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए AI का उपयोग
    2. आरोग्य - हेल्थकेयर में एआई
      • चिकित्सा अनुसंधान, रोगी की देखभाल और निदान, हेल्थकेयर सिस्टम का स्वचालन, और संबंधित क्षेत्रों के लिए एआई के जरिए इनोवेशन।
    3. शिक्षा – शिक्षा में एआई
      • डिजिटल युग में शिक्षा का प्रबंधन, मूल्यांकन और शिक्षार्थी केंद्रित क्षेत्रों से जुड़ी चुनौतियों से निपटने के लिए एआई आधारित समाधान का विकास।
    4. पर्यावरण - पर्यावरण और स्वच्छ ऊर्जा में एआई
      • पर्यावरण की रक्षा और संरक्षण और अक्षय ऊर्जा को अपनाने में एआई आधारित समाधान का विकास करने हेतु।
    5. परिवहन - परिवहन क्षेत्र में एआई
      • परिवहन व्यवस्था और इसके नेटवर्क पर बढ़ते दबाव को कम करने, लॉजिस्टिक इन्फ्रास्ट्रक्चर, दुर्घटना की रोकथाम, स्मार्ट यातायात प्रबंधन आदि से संबंधित समाधान में एआई का उपयोग।
    6. ग्रामीण विकास - ग्रामीण विकास के लिए एआई
      • गरीबी उन्मूलन, रोजगार सृजन, सामाजिक सुरक्षा का लाभ प्रदान करने, इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास आदि के समाधान के जरिए ग्रामीण भारत के सतत और समावेशी विकास को बढ़ावा देने में एआई का उपयोग।
    7. स्मार्ट शहर- स्मार्ट शहरों के लिए एआई
      • स्मार्ट कचरा प्रबंधन व इंटेलीजेंट लाईट सिस्टम आदि जैसे कुछ स्मार्ट समाधानों के जरिए गुणवत्तापूर्ण जीवन, स्वच्छ व टिकाऊ पर्यावरण वाले सतत व समावेशी शहर सुनिश्चित करने के लिए एआई का उपयोग।
    8. विधि एवं न्याय – विधि एवं न्याय मे एआई
      • विधि एवं न्याय व्यवस्था में जिम्मेदारी, पारदर्शिता, दक्षता और सुलभता को बढ़ावा देने के लिए एआई का उपयोग